google.com, pub-1670991415207292, DIRECT, f08c47fec0942fa0 क्या है कोरोना वायरस? - Hindi Top News| हिंदी टॉप न्यूज़

Header Ads

क्या है कोरोना वायरस?

Covid-19 का मतलब Corona virus disease 2019 है। यह Corona नामक बीमारी सब से पहले चीन के वुहान शहर में नवम्बर 2019 को पाया गया। यह वायरस बहोत ही शक्तिशाली एवम् प्रभावशाली है यह वायरस लोगो के शरीर में पॉजिटिव है, उसकी पुष्टि 10 से 12 दिनों के बाद होती है। चीन में यह एक बड़ी महामारी का आगमन था।
Covid-19 नामक बीमारी चीन के चमगादड़ों में संक्रमित हुआ। वुहान में लोगो के मांसाहारी खान पान की वजह से यह वहां के लोगो में  बहूत तेजी से फैलता जा रहा था।चीन में इस बीमारी के कारण मरीजों की संख्या बढ़ रही थी। चीन के डॉक्टर ने संशोधन से इस महामारी को समझ ने की कोशिश जारी कर दी। चीन के महान डॉक्टर 'जगरान जॉस' ने इस महामारी को Corona नाम दिया।

चीन में यह बीमारी के मरीजों की संख्या बढ़ रही थी, चीन के प्रधानमंत्री ली केकयांग ने सख्त कदम लेने का फैसला किया। उन्होंने चीन में लॉकडन कि स्तिथि कायम कर दी। चीन में अन्य कई देशों के लोग अपनी पढ़ाई ,नोकरी की वजह से वहां पर थे, उनको अपने देश परत लौट ने अनुमति दी। चीन से लौ टे लोगो में यह वायरस संक्रमित हुआ है इसके बारे में कोई नहीं जानता था। 
Corona वायरस अब पूरी दुनिया में अपना संक्रमण शुरू करने की तकाद पर था। चीन के बाद स्पेन, जर्मनी , इटली, अमरीका, और अब भारत भी इस महामारी से लड़ाई कर रहा है। इस वायरस ने सबसे ज्यादा इटली में लोगो की मुत्यू का कारण बना है। इटली में १ लाख से अधिक लोग इस महामारी से लड़ाई कर रहे है,और 16000 से अधिक लोगों की मुत्यु भी हो चुकी है।
इटली एक ऐसा देश है जो वहां का हैल्थ विभाग दुनिया के दूसरे क्रम पर है। परन्तु इस महामारी के आगे इटली के डॉक्टर की कोई भी दवाई असर नहीं कर रही थी। इटली में लोगो को दफना ने कि जगह धीरे- धीरे कम हो रही थी। इटली के अलावा स्पेन, लंदन, अमरीका जैसे देश लड़ रहा है।
       
कोरोना वायरस अब भारत में आगमन हो चुका था। तारीख: 13 मार्च को भारत के तमिनाडु में इस वायरस का पहला केस सामने आया था। यह वायरस ज्यादा ना बढ़े इस लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रभाई मोदी ने तारीख 22 मार्च को सम्पूर्ण " जनता कर्फ्यू" का ऐलान किया एवम् उस दिन शाम पांच बजे थाली बजाकर देश में जनता कर्फ्यू का समर्थन की मांग की। देश में बढ़ते मरीजों संख्या देखते हुए उन्होंने 21 दिनों का लॉकडाउन का नियम जारी किया। तारीख 9 अप्रैल को पूरे देश में दिए लगाकर पूरी दुनिया में यह संदेश दिया की हम भारतवासी इस महामारी से जीतकर दुनिया में एक नया इतिहास रचेंनगे। इस वायरस से भारत में अब तक5127 लोगो संक्रमित हो चुके है, एवम् 153 लोगो की मुत्यू हो चुकी है। हमे इस लॉकडॉउन में प्रधानमंत्री जी का साथ देना चाहिए जिससे हम देश में इस वायरस के सामने लड़ाई जीत सकगे।

-विनोद 
    
 जय भारत जय हिन्द 
For News Portal Solution

No comments