Header Ads

Ghazipur Top News: गाजीपुर जनपद के करीमुद्दीनपुर में 1.20 करोड. की लागत से होगा गौशाला का निर्माण

इस समय शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में छुट्टा घूम रहे गोवंश के लिए जिले में जगह जगह उनके रहने के लिए आश्रय स्थल का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है।इसी क्रम में बाराचंवर ब्लाक की सबसे बडी ग्राम सभा करीमुद्दीनपुर में प्रस्तावित गौशाला के निर्माण के लिए उत्तर प्रदेश शासन से1.20 करोड़ रूपये मिला है।इसके  निर्माण के लिए कार्यदायी संस्था पैक्सफेड को 50 लाख रूपये की प्रथम किस्त जारी कर दी गयी है।फिलहाल निर्माण कार्य पूरा होने तक अस्थायी गोशाला की ब्यवस्था करीमुद्दीनपुर प्रधान प्रतिनिधि राजेश राय के देख रेख में सहकारी संघ ताजपुर के द्वारा पूर्व में करीमुद्दीनपुर में बनाये गये कोल्ड स्टोर पर की गयी है।चारो तरफ से अस्थायी बाउण्ड्री के साथ इंडिया मार्का हैण्डपम्प.उनके खाने के लिए भूसा.चारा की ब्यवस्था की गयी है।यहां पर दो गाय एवम दो दर्जन छुट्टा सांड इकट्ठा किये गये है।
इस गौशाला के बारे में मुख्य बिकास अधिकारी गाजीपुर हरिकेश चौरसिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस आश्रय स्थल में गोवंश के लिए चारा पानी सहित अन्य सभी सुबिधाएं मौजूद रहेंगी।उनकी सुरक्षा के लिए चहारदीवारी बनायी जायेगी जिसमें गेट भी लगाया जायेगा।पास में तालाब का निर्माण किया जायेगा जिसमें बरसात का पानी एकत्र हो सके।यह पानी पशुओं के पीने के काम आयेगा।एक ट्यूबवेल भी लगाया जायेगा जिससे पानी न रहने पर तालाब को भरा जायेगा।
पशुओं को धूप एवम ठंढ से बचाने के लिए शेड का निर्माण किया जायेगा।उनके लिए चारा बैंक का भी निर्माण किया जायेगा।इन पशुओं के लिए हरा चारा भी बोया जायेगा. अगल बगल में छाया के लिए छायादार पौधे भी लगाये जायेंगे।पशुओं का गोबर व मूत्र एकत्र कर उससे रसोई गैस व खाद का निर्माण किया जायेगा।इन पशुओं के नियमित स्वास्थ्य की जांच के लिए यहां पर चिकित्सक भी आते रहेंगे।
निराश्रित घुम रहे बेकार पशुओं का भी यहा उपयोग किया जायेगा*गो आश्रय केन्द्र में रखने से किसानों की फसल नुकसान नहीं होगी।उनके गोबर व मूत्र से रसोई गैस एवम जैविक खाद बनाया जायेगा।इसका उपयोग भोजन बनाने व खेती में किया जायेगा।इससे प्राप्त पैसे का उपयोग गो आश्रय केन्द्र के रख रखाव में किया जायेगा।रिपोर्टर -विकास राय


No comments