Header Ads

चिकित्सकों ने निकाली कैंसर जागरूकता रैली, पद्मश्री प्रो. राजेश्वर आचार्य ने तम्बाकू त्यागा

वाराणसी: बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल, पं. मदन मोहन मालवीय कैंसर इंस्टीट्यूट व टाटा मेमोरियल मुम्बई के संयुक्त तत्वावधान में विश्व कैंसर दिवस के पूर्व संध्या पर रविवार को जन जागरूकता रैली निकाली गई। रैली सुंदर बगिया स्थित कैंसर इंस्टीट्यूट से प्रारम्भ होकर नरिया, लंका, रविदास गेट, मालवीय प्रतिमा होते हुए सर सुंदरलाल अस्पताल पहुंचकर समाप्त हुई। इससे पूर्व रैली को पद्मश्री प्रो. राजेश्वर आचार्य व बीएचयू के रेक्टर प्रो. वी के शुक्ला  ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही प्रो. राजेश्वर आचार्य ने तम्बाकू छोड़ने की घोषणा की। इस दौरान लोगों को कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के प्रति जागरूक करते हुए कैंसर इंस्टीट्यूट व डॉ. होमी भाभा इंस्टीट्यूट के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. सत्यजीत प्रधान ने कहा कि लोगों में यह भ्रांतियां हैं कि कैंसर की बीमारी कभी ठीक नहीं हो सकती है। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। यदि कैंसर की पहचान शुरुआत में ही हो जाय तो इसका इलाज संभव है। वाराणसी में कैंसर इंस्टीट्यूट की स्थापना मरीजों की सुविधा के लिए की जा रही है। जिससे कि मरीजों को इलाज के लिए दिल्ली, मुम्बई आदि स्थानों पर भटकना न पड़े।वहीं रैली में सम्मिलित पद्मश्री प्रो. राजेश्वर ने कहा कि इमारत को बदलना है तो उसकी हर ईंट को सम्भाल कर रखना होगा। उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो. विजयनाथ मिश्र द्वारा भारत को कैंसर मुक्त करने के उद्देश्य से यह सराहनीय कदम उठाया गया है। इसके साथ ही एमएस प्रो. विजयनाथ मिश्र ने कहा कि कैंसर के प्रति जितनी जागरूकता बढ़ाई जाएगी उतना ही लोगों को सचेत किया जा सकेगा। प्रो मिश्र ने यह भी कहा कि नशा मुक्ति से ही आरोग्य की राह जुडती है। ग्रामीण इलाकों में कैंसर को लोगों ने हौव्वा बना रखा है। जबकि केंद्र सरकार और आईएमएस बीएचयू के सार्थक प्रयास से कैंसर इंस्टीट्यूट जल्द ही मरीजों की सेवा के लिए उद्घाटित हो जाएगा। यह इंस्टीट्यूट सर सुंदरलाल अस्पताल की तरह ही न केवल पूर्वांचल बल्कि कई राज्यों और देशों की सेवा करेगा।
० गुटखा, तम्बाकू नहीं खाएंगे, च्विंगम इलायची से काम चलायेंगे

कैपेसाइट के जनरल मैनेजर शैलेन्द्र शर्मा ने बताया की चिकित्सकों की बात सुनकर इंस्टीट्यूट का निर्माण कार्य कर रहे मजदूर भी प्रभावित हो गए हैं और संकल्प लिया कि आगे से गुटखा और तंबाकू का सेवन नहीं करेंगे। बल्कि च्विंगम और  इलायची खाकर काम चलाएंगे। इस दौरान कैपेसाइट के एवीएम रंजीत देशमुख, डॉ. टी.पी. चतुर्वेदी, डॉ. नरेश अग्रवाल, डीएवी इंटर कालेज के प्राचार्य डा दयाशंकर मिश्र दयालु सहित बड़ी संख्या में लोग सम्मिलित रहे।रिपोर्टर -विकास राय

For News Portal Solution

No comments