google.com, pub-1670991415207292, DIRECT, f08c47fec0942fa0 दिल्ली में 'गतिशील गाजीपुर' समागम का आयोजन संपन्न - Hindi Top News| हिंदी टॉप न्यूज़

Header Ads

दिल्ली में 'गतिशील गाजीपुर' समागम का आयोजन संपन्न

गाजीपुर:  दिल्ली में गाजीपुर समागम गतिशील गाजीपुर के नाम से रविवार को सम्पन्न किया गया। इस समागम की तैयारी बडे ही जोर शोर पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र जनपथ नई दिल्ली. नियर केंद्रीय सचिवालय मैट्रो स्टेशन के पास की गयी थी।गाजीपुर समागम कार्यक्रम के लिए बहुत ही भव्य मंच एवम पंडाल का निर्माण किया गया था।कार्यक्रम का शुभारंभ रेल राज्य मंत्री संचार मंत्री स्वतंत्र प्रभार मनोज सिन्हा.पूर्व आई ए एस बालेश्वर राय.कमल नयन राय.प्रभुनाथ चौहान.जमानियां विधायक श्रीमती सुनीता सिंह एवम मंचासीन ब्यक्तियों के द्वारा भारत रत्न स्व अटल बिहारी बाजपेयी एवम स्वामी सहजानंद सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवम दीप प्रज्वलन कर किया गया।मंच के बगल में दोनों बगल एल सी डी की ब्यवस्था की गयी थी।गाजीपुर समागम में लोगों को शामिल होने के लिए दिल्ली के कोने कोने में कार्यकर्ता जाकर गाजीपुर के नौकरी पेशा करने वाले लोगों को आमंत्रित किये थे।परिणाम बहुत ही सार्थक रहा और अचानक प्रतिकूल मौसम के बावजूद आयोजकों के अनुमान से बहुत ज्यादा की संख्या में गाजियाबाद. नोयडा.गुरूग्राम.बदरपुर. रोहिणी. फरिदाबाद समेत अन्य स्थानों से लोग गाजीपुर समागम में पहुंचे।कार्यक्रम को संबोधित करते हुवे वरिष्ठ भाजपा नेता प्रभुनाथ चौहान ने कहा की गाजीपुर का जन जन और कण कण मनोज सिन्हा में समाहित है।मनोज सिन्हा जी केवल विकास की ही बात करते है इनके चिन्तन और मनन में केवल विकास है।चार साल में मनोज सिन्हा ने जो कर दिया है वह बहुत ही ज्यादा है।आजादी के बाद पहली बार आपने गाजीपुर का कायाकल्प कर दिया है।अपने संबोधन में कमल नयन राय ने कहा की देश में गाजीपुर का नाम गाजीपुर की पहचान आज मनोज सिन्हा के द्वारा हुई है।अपने संबोधन में तिहाड़ जेल के पूर्व डायरेक्टर जनरल आफ पुलिस आर पी सिंह ने  कहा की मै 1970 से दिल्ली में हूं।अपनी कोइ पहचान नहीं थी.लेकिन आज गाजीपुर की पहचान यहां मनोज सिन्हा के रूप में है।चतुर्दिक विकास के अनेकानेक क्षेत्रो में बिकास कार्य इस समय गाजीपुर में हो रहा है।गाजीपुर का रेलवे स्टेशन आज भारत के किसी रेलवे स्टेशन से किसी मामले में कम नहीं है।अब तो गाजीपुर में एयरपोर्ट की भी शुरुआत हो रही है।आज पहली बार गाजीपुर के लोगों का इतना बडा जन समूह दिल्ली में देख रहा हूं।कार्यक्रम को संबोधित करते हुवे पूर्व आई ए एस बालेश्वर राय ने कहा की विपरीत मौसम के बावजूद आज आप सभी का भारी संख्या में गाजीपुर समागम में आना यह आपके प्रेम को दर्शाता है।गाजीपुर को आज दिल्ली में नि:संदेह मनोज सिन्हा ने पहचान दिलाया है।इतना विकास कार्य तो बलियां में वहां के सांसद पूर्व प्रधानमंत्री स्व चन्द्र शेखर जी ने भी नहीं कराया था जितना विकास कार्य मनोज सिन्हा ने अपने एक कार्यकाल में किया है।आजादी के बाद से गाजीपुर का हर सांसद गंगा पर गाजीपुर में रेल पुल की बात करता था लेकिन गंगा पर रेल पुल बनवाने का श्रेय केवल मनोज सिन्हा को जाता है।आपने केवल रेल पुल ही नहीं बल्कि आपने ताडीघाट को गाजीपुर. मऊ दिलदार नगर समेत चारो तरफ से जोडने का काम भी किया है। मनोज सिन्हा के रूप में गाजीपुर के लोगों को यैसा जनप्रतिनिधि मिला है जो हर समय आपके लिए उपलब्ध है।गाजीपुर समागम को संबोधित करते हुवे रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा की मैने जो सफर 2014 में प्रारम्भ किया था उस सफर में अब तक हमने अनेक ऐसे लक्ष्य हासिल भी किये है जिसके बारे में शायद मैने भी कल्पना नहीं की थी।गाजीपुर गंगा पर बनने वाला रेल पुल.एन एच 29 वाराणसी. गाजीपुर.मऊ और गोरखपुर. को चार लेन में बदलना.एन एच 97 गाजीपुर जमानियां.सैदपुर चार लेन.सभी रेल खण्डों के दोहरीकरण. विद्युतीकरण.।गाजीपुर के सभी रेलवे स्टेशनों को उन्नत यात्री सुबिधाओं से युक्त करना।गाजीपुर को देश के सभी प्रमुख शहरो से रेल कनेक्टिविटी के माध्यम से जोडना।गाजीपुर में रेलवे जोनल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट का निर्माण. औडीहार में डेमू.मेमू वर्कशॉप का निर्माण. सैदपुर में इलेक्ट्रिक लोको मेंटनेंस का वर्कशाप. यह सब कार्य धरातल पर दिखाई दे रहा है।यह सब दिखने वाली उपलब्धियां है।रेल राज्य मंत्री ने गाजीपुर के बिकास को लेकर जो किया है.जो हो रहा है और जो आगामी योजना है उसे बिस्तार से बताया।संवाद कार्यक्रम में उपस्थित जनता के द्वारा किये गये सवाल.उनकी मांग एवम सुझाव पर भी मनोज सिन्हा ने सभी सवाल़ो का उत्तर.सुझाव पर विचार करने का भरोसा दिया।आपने एक सवाल के जबाब में कहा की हर स्टेशन पर हर महत्वपूर्ण ट्रेन रूके यह अच्छी मानसिकता नहीं है।इससे ट्रेनों की समयबद्धता प्रभावित होगी।गाजीपुर सहित पूर्वी उत्तर प्रदेश में पिछले साढे चार साल के दौरान जो बदलाव आया है उसे आगे बढाना है।इस मौके पर उन्होंने जनपद को बडी सौगात की घोषणा की। आपने कहा की देश की सबसे बडी खाद्य प्रसंस्करण इकाई गाजीपुर में स्थापित की जायेगी और उडान योजना के तहत गाजीपुर के अंधऊ से स्पाइस जेट मुम्बई. दिल्ली. लखनऊ के लिए छ माह में विमान सेवा शुरू कर देगी।फूड प्रोसेसिंग प्लांट की सबसे बडी युनिट गाजीपुर में .गाजीपुर में इंजीनियरिंग कालेज बन रहा है.गाजीपुर में विश्व विद्यालय की मांग पर आपने कहा की मै विश्वबिद्यालय का विरोधी नहीं हूं हम प्रयास करेंगे की गाजीपुर में विश्व विद्यालय बने।आपने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों से शिक्षा एवम स्वच्छता के लिए हफ्ते में एक दिन के लिए अपील की.आपने कहा की गन्दगी नहीं होगी तो बिमारी नहीं होगी।स्वच्छता में जब मुल्यांकन हो तो गाजीपुर का नाम भी उपर आ जाये इसके लिए प्रयास किया जाये।गोरखपुर में एम्स की स्थापना. बंद पडे यूरिया कारखाने का खोला जाना.बनारस के सर सुंदर लाल अस्पताल को एम्स का दर्जा .वाराणसी में कैंसर संस्थान की स्थापना. सडक और रेल सुविधाओं का विकास पूर्वाचल को विकास के रास्ते पर ले आया है।संवाद के माध्यम से आपने उपस्थित लोगों से जानने का प्रयास किया की गाजीपुर में और क्या क्या किया जाये।संगठित किसान आंदोलन के जनक स्वामी सहजानंद सरस्वती एवम पवहारी बाबा की चर्चा करते हुवे कहा की दुनिया में लोग उनकी भूंमि गाजीपुर के बारे में जाने।इसके लिए हमें बैठ कर आपस में बात करने की आवश्यकता है।रेल राज्य मंत्री ने उपस्थित लोगों से कहा की हमें राजनीति से उपर उठकर गतिशील गाजीपुर के लिए प्रयास करना चाहिए।आपने इस कार्यक्रम के आयोजक मंडल के सभी लोगों एवम सभी उपस्थित लोगों के प्रति आभार ब्यक्त किया। कार्यक्रम में संजय राय. राजीव राय.डा बलवंत सिंह.दिग्विजय राय.बासुदेव पाण्डेय. आलोक राय.गोपाल जी राय.राधेश्याम राय.ध्रूव राय.कृष्णा नन्द राय.नथुनी सिंह.मानवेन्द्र सिंह मानव.सन्तोष रंजन राय.सर्वेश राय.शशांक कौशिक. विजय शंकर राय.राजकुमार त्रिपाठी. अशोक चैतन्य. रविकांत राय.दिनेश राय.शैलेश श्रीवास्तव समेत हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।


रिपोर्टर -विकास राय


For News Portal Solution

No comments