google.com, pub-1670991415207292, DIRECT, f08c47fec0942fa0 रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर पर तीन गुना अधिक खर्च: रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा - Hindi Top News| हिंदी टॉप न्यूज़

Header Ads

रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर पर तीन गुना अधिक खर्च: रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा

केन्‍द्रीय संचार राज्‍यमंत्री स्‍वतंत्र प्रभार व रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि केंद्र सरकार ने पूर्व की सरकारों की अपेक्षा रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर पर तीन गुना अधिक खर्च किया है। इस वर्ष 1.48 लाख करोड़ रूपये इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च किए जाएंगे। वहीं रेलवे में संरक्षा, सुरक्षा और समयबद्धता पर पहली बार काम हुआ है। जल्द ही इसके सुखद परिणाम देखने को मिलेंगे। शनिवार को कानपुर आए केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्‍हा ने पनकी रेलवे स्टेशन का नाम पनकी धाम स्टेशन करते हुए उद्घाटन किया और उसके विकास के लिए कई योजनाओं की घोषणा की। इसके साथ ही उन्‍होंने पनकी स्थित मंदिर में महावीर हनुमान जी के दर्शन-पूजन भी किए।

वहीं पनकी धाम मंदिर में आयोजित जनसभा में केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्‍हा ने पनकी धाम रेलवे स्टेशन के नाम की घोषणा की। वहीं स्टेशन यार्ड के अपग्रेडेशन, इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग व स्टेशन पर कोच इंडीकेटर सिस्टम का लोकार्पण किया। उन्होंने हरी झंडी दिखाकर भाऊपुर से तीसरी लाइन पर यात्री ट्रेनों के संचालन का भी शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार में रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर पर सालाना 48-49 हजार करोड़ रूपया खर्च होता था, जबकि मौजूदा सरकार में 1.30 लाख करोड़ रुपये पिछले वर्षों में खर्च हुआ है। इस साल 1.48 लाख करोड़ रूपये इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च होंगे। उन्होंने बताया कि पहले उत्तर प्रदेश के रेल नेटवर्क पर महज 1100 करोड़ रूपये का बजट था, जिसे अब बढ़ाकर साढ़े सात हजार करोड़ कर दिया गया है। केन्‍द्रीय मंत्री मनोज सिन्हा के द्वारा दी गई सौगातों में रेलवे स्टेशन का नाम पनकी धाम किया गया।

वहीं पनकी धाम स्टेशन यार्ड का अपग्रेडेशन व इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग का काम, प्लेटफार्म नंबर एक व दो पर कोच इंडीकेटर सिस्टम, प्लेटफार्म नंबर दो व तीन की लंबाई फुल लेंथ की ट्रेनों के बराबर की गई, वहीं प्लेटफार्म नंबर तीन की दक्षिण दिशा में पीआरएस भवन के पास चाहरदीवारी का निर्माण किया गया, खाने पीने की सुविधाओं में इजाफा हुआ, रैपालपुर रेल हाल्ट पर अब रेल टिकट भी मिलेंगे, वहीं पतरा हाल्ट पर एक मेमू ट्रेन का ठहराव होगा। मैथा रेलवे स्टेशन की अतिरिक्त लाइन पर मेमू ट्रेन खड़ी होने की सुविधा ताकि ट्रेन तत्काल न लौटेंगे। वहीं पनकी धाम रेलवे स्टेशन पर और ट्रेनों के ठहराव को केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्‍हा ने रोचक किस्सा सुनाकर बड़ी सफाई से टाल गए। उन्होंने कहा कि हर कोई चाहता है कि उनके स्टेशन पर सभी ट्रेनें रुकें, लेकिन जब वह यात्री बनकर ट्रेन में सवार होता है तो अगले स्टेशन पर ट्रेन खड़ी होना खलता है।

हर स्टेशन पर महत्वपूर्ण ट्रेन रूकें, यह अच्छी मानसिकता नहीं है, इससे ट्रेनों की समयबद्धता प्रभावित होगी। जनसभा के दौरान सांसद देवेंद्र सिंह भोले और औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने पनकी पड़ाव, रूरा, सरसौल और चकेरी में रेलवे ओवरब्रिज (आरओबी) बनाने की मांग रखी। इस पर केन्‍द्रीय मंत्री मनोज सिन्‍हा ने कहा कि रेलवे स्वयं चाहती है कि अधिक से अधिक आरओबी बनें, ताकि ट्रेनों का संचालन और तेज व सुरक्षित हो सके, बस यूपी सरकार मदद करे। आरओबी निर्माण में आने वाले खर्च का आधा हिस्सा और रेलवे फाटक बंद करने में मदद करने का आश्वासन प्रदेश सरकार दे तो हर आने वाले प्रस्ताव को रेलवे सात दिनों में स्वीकृत कर काम शुरू करा देगा।

रिपोर्ट: विकास राय


For News Portal Solution

No comments